मिनी स्विट्जरलैंड है हिमाचल का खज्जियार

Image result for मिनी स्विट्जरलैंड
किसी ने सही कहा है अगर पृथ्वी में कहीं स्वर्ग है तो वह स्विट्जरलैंड में है। स्विट्जरलैंड की खूबसूरत पहाडियां, चारों तरफ हरियाली, नदियां और झीले पूरी दुनियाभर में मशहूर है, लेकिन आपको पता है कि दिल्ली से महज 508 किलोमीटर की दूरी पर स्थित खज्जियार दुनिया के 160 मिनी स्विट्जरलैंड में से एक माना जाता है। स्विज राजदूत ने यहां की खूबसूरती से आकर्षित होकर 7 जुलाई, 1992 को खज्जियार को हिमाचल प्रदेश का मिनी स्विटजरलैंड की उपाधि दी थी।
खज्जियार की खूबसूरती भी यूरोप के देश स्विट्जरलैंड से कम नहीं है। यहां का मौसम, चीड़ और देवदार के ऊंचे-लंबे हरे-भरे पेड़, हरियाली और पहाड़ और मानसिक सुकून देने वाली वादियां आपको स्विट्जरलैंड का एहसास कराती हैं। यह पर्यटक स्थल छोटा भले ही है, लेकिन लोकप्रियता में बड़े-बड़े हिल स्टेशनों से कम नहीं है। हजारों साल पुराने इस छोटे से हिल स्टेशन को खासकर खज्जी नागा मंदिर के लिए जाना जाता है। यहां नागदेव की पूजा होती है, लेकिन पर्यटक मुख्य रूप से इस हिल स्टेशन की आबोहवा का आनंद लेने के लिए आते हैं। खज्जियार का मौसम दिनभर सुहाना रहता है।
Image result for मिनी स्विट्जरलैंड
खज्जियार झील
खज्जियार का आकर्षण चीड़ एवं देवदार के वृक्षों से ढके खज्जियार झील में है। झील के चारों ओर हरी भरी मुलायम और आकर्षक घास खज्जियार को सुंदरता प्रदान करती है। झील के बीच में टापूनुमा दो जगहें हैं, जहां पहुंचकर पर्यटक और रोमांचित हो जाता है। वैसे तो खज्जियार में तरह-तरह के रोमांचक खेलों का भी आयोजन किया जाता है, लेकिन अगर आप गोल्फ के शौकीन हैं तो आपके लिए यह हिल स्टेशन और भी बेहतर है।
कैसे पहुंचे
अगर आप हिमाचल प्रदेश के चंबा या डलहौजी जाते हैं तो वहां से महज आंधे घंटे की दूरी पर है खज्जियार। यही नहीं, खज्जियार चंडीगढ़ से 352 और पठानकोट रेलवे स्टेशन से मात्र 95 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां तक पहुंचने के लिए आप शिमला तक रेल और हवाई मार्ग से भी जा सकते हैं, जिसके आगे बस या टैक्सी का उपयोग कर आप मिनी स्विट्जरलैंड पहुंच सकते हैं।

Advertisement

 
Top