मसूरी  

Image result for मसूरी
 मसूरी विवरण मसूरी प्रकृति की गोद में बसा हुआ उत्तराखंड का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। मसूरी को "पहाड़ों की रानी" भी कहा जाता है। राज्य उत्तराखण्ड ज़िला देहरादून ज़िला स्थापना 1827 में कैप्टन यंग द्वारा स्थापित मार्ग स्थिति यह शहर सड़क द्वारा दिल्ली से 288 किमी तथा देहरादून से 32 किमी दूरी पर स्थित है। प्रसिद्धि बर्फ़ से ढके हिमालय और दून घाटी के बीच बसा मसूरी पर्यटन का सबसे आकर्षक स्थल है।

Image result for मसूरी
 कैसे पहुँचें किसी भी शहर से बस और टैक्सी द्वारा पहुँचा जा सकता है। जौली ग्रान्ट हवाई अड्डा, देहरादून देहरादून रेलवे स्टेशन लाइब्रेरी बस अड्डा, पिक्चर पैलेस बस स्टैंड साइकिल रिक्शा क्या देखें मसूरी पर्यटन क्या ख़रीदें मसूर, गर्म कपड़े (फ़िरन) एस.टी.डी. कोड 0135 ए.टी.एम लगभग सभी सावधानी बरसात में भूस्खलन गूगल मानचित्र, हवाई अड्डा अन्य जानकारी भारतीय प्रशासनिक सेवा ‎के लिये चयनित अभ्यर्थियों के प्रशिक्षण हेतु यहां पर लाल बहादुर प्रशिक्षण अकादमी स्थापित है। बाहरी कड़ियाँ मसूरी में आप घोड़े की सवारी का भी आनन्द ले सकते हैं। मसूरी उत्तराखंड की प्रकृति की गोद में बसा हुआ एक छोटा सा शहर है जिसे 'पहाड़ों की रानी' भी कहा जाता है। मसूरी सौंदर्य, शिक्षा, पर्यटन व व्यावसायिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध है। पहाड़ों के बीच बसा मसूरी देहरादून का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। हिमालय और दून घाटी के बीच बसा मसूरी का नज़ारा बर्फ़ से ढके होने के कारण बहुत ही मनमोहक लगता है। मसूरी गंगोत्री का प्रवेश द्वार भी है। 
Image result for मसूरी

देहरादून में पायी जाने वाली वनस्पति और जीव-जंतु इसके आकर्षण को और भी बढ़ा देते हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश के निवासियों के लिए यह लोकप्रिय ग्रीष्मकालीन पर्यटन स्थल है। स्थिति मसूरी उत्तरी भारत के पश्चिमोत्तर उत्तरांचल राज्य में स्थित देहरादून से 32 किमी दूर पर स्थित है। मसूरी 2,112 मीटर की ऊँचाई पर हिमालय की तराई में एक मनोरम पर्वतीय क्षेत्र के बीच में स्थित है। इतिहास मसूरी की खोज कैप्टन यंग ने 1827 में की थी। कहा जाता हैं कि ब्रिटिश आर्मी के कैप्टन यंग ने मसूरी की सुन्दरता से प्रभावित होकर यहीं बसने का निर्णय किया था। मसूरी का नामकरण यहाँ पर बहुतायत में पाए जाने वाले मसूर के पौधे के कारण हुआ था। केम्पटी फ़ॉल, मसूरी यातायात और परिवहन मसूरी का निकटतम एयरपोर्ट देहरादून में है। देहरादून से लोकल बस, टैक्सी द्वारा मसूरी पहुँचा जा सकता है। मसूरी से निकटतम रेलवे स्टेशन 33 किलोमीटर दूरी पर देहरादून में है। मसूरी भारत के कई बड़े शहरों से सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन, डीटीसी, सेमी लक्ज़री, लक्ज़री बसें मसूरी तक उपलब्ध हैं। उद्योग और व्यापार मसूरी में एक वानस्पतिक उद्यान और कई भारतीय सरकारी कार्यालयों के ग्रीष्मकालीन दफ़्तर हैं। यहाँ भारत की पहली मद्य निर्माणशाला 1850 में स्थापित की गई थी। 


शिक्षण संस्थान मसूरी की जलवायु और इसके आसपास का वातावरण इसको बहुत से आवासीय विद्यालयों के लिए उपयुक्त स्थल बनाता है। मसूरी में कई विद्यालयों है जिनमें से यह प्रमुख है:- वायनबर्ग ऐलन, गुरु नानक पंचम सेंटिनरी, मसूरी इंटरनैशनल, टिबेटन होम्स और वुडस्टॉक स्कूल हैं। मसूरी में सेंट जॉर्ज विद्यालय की स्थापना 1853 मेँ हुई थी। गुरु नानक फिफ्थ सेंटेनरी स्कूल, मसूरी (GNFCS) मसूरी का प्रसिद्ध विद्यालय है। भारतीय प्रशासनिक सेवा ‎के लिये चयनित अभ्यर्थियों के प्रशिक्षण हेतु यहां पर लाल बहादुर प्रशिक्षण अकादमी स्थापित है। पर्यटन स्थल मुख्य लेख : मसूरी पर्यटन पर्वतों की रानी, मसूरी शहर देहरादून के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक है। मसूरी में एक ओर जहाँ विशाल हिमालय की चमचमाती बफीली शृंखलाओं का सुंदर नज़ारा दिखता है, वहीं दूसरी ओर दून घाटी में बिखरी प्रकृति की अदभुत सुंदरता पर्यटकों को शांति प्रदान करती है। गन हिल, मसूरी झील और केम्पटी फ़ॉल मसूरी के यादगार पर्यटन स्थल हैं। जनसंख्या 2001 की जनगणना के अनुसार मसूरी की जनसंख्या 26,069 है। 

Read more at: http://bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%AE%E0%A4%B8%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A5%80
साभार bhartdiscovery.org

Advertisement

 
Top