दिन भर की तपती धूप, चिपचिपाती गर्मी और गर्मी के सरदर्द से परेशान पूरी दिल्ली की अभी यही हालत है। ऐसी गर्मी में तो कहीं घूमने जाने के लिए भी दस बार सोचना पड़ता है। देश के बाकी हिस्सों का भी लगभग यही हाल है। अगर आप इस गर्मी से दूर अभी ही ठंड का मज़ा लेना चाहते हैं और घूमने के लिए भी बहुत ज़्यादा उत्सुक हैं तो चलिए हम आपको लिए चलते हैं गर्मी के मौसम में कड़ाके की ठंड का अनुभव कराने, पर हाँ जाने से पहले अपने ठंड के कपड़े ज़रूर तैयार कर लीजिए। चलिए चलते हैं, देश की सबसे ठंडी जगहों की आभासी यात्रा में। 

कारगिल


 1. कारगिल हमेशा समाचारों में छाया रहने वाला, जम्मू कश्मीर में बसा कारगिल सबसे ठंडा क्षेत्र होने के लिए भी प्रसिद्ध है। सिंधु नदी के साथ ही बसे इस क्षेत्र का तापमान ठंड के मौसम में -48 डिग्री तक पहुँच जाता है। इसके पास ही सैर के लिए एक ऐतिहासिक धरोहर पाशकुम और बौद्धिक गाँव मूलबेक भी स्थित है। द्रास 

 2. द्रास कारगिल के इकलौते नगर द्रास में जमा देने वाली ठंड होती है। द्रास को लद्दाख का प्रवेशद्वार भी कहते हैं। यहाँ का तापमान कम से कम -22 डिग्री तक पहुँच जाता है।

 3. स्पिति स्पिति का मतलब होता है 'मध्य भूमि'। भारत और तिब्बत के बीच, हिमालय पर्वतों पर बसा छोटा सा क्षेत्र गर्मी के मौसम में पर्यटकों को सबसे ज़्यादा राहत दिलाता है। यहाँ का दृश्य आपको मंत्रमुग्ध कर देगा। स्पिति अपने बौद्धिक संस्कृति के कारण भी लोकप्रिय है। स्पिति 

 4. लेह प्राचीन राज्य लद्दाख की राजधानी लेह पर्यटकों का सबसे मनपसंद पर्यटन स्थल है। लोग दूर दूर से यहाँ की संस्कृति और परंपरा के साथ, यहाँ के कई आकर्षक केंद्रों का मज़ा लेने आते हैं। यहाँ साल भर तापमान लगभग 7 डिग्री से ज़्यादा नहीं होता और ठंड के समय और घटता जाता है। लेह

5. रोहतांग आपने कई बार मनाली की सैर की होगी। हिमाचल प्रदेश में मनाली से कुछ दूरी पर ही है रोहतांग, जो कुल्लू घाटी को स्पिति घाटी से जोड़ता है। यहाँ का प्राकृतिक दृश्य लोगों में जादू कर जाता है। यह जगह कभी भी होने वाले स्नोफॉल के लिए भी प्रसिद्ध है। रोहतांग 

 6. अमरनाथ अमरनाथ हिंदुओं का सबसे प्रमुख तीर्थस्थल है। लोग पहाड़ियों पर उँची उँची चढ़ाई कर जमा देने वाली ठंड में यहाँ स्थित प्राकृतिक लिंग के दर्शन करने आते हैं। यहाँ का सामान्य तापमान लगभग 7.5 डिग्री रहता है। अमरनाथ

 7. हेमकुंड साहिब हेमकुंड साहिब जिसे गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब जी भी कहते हैं, सिक्खों का मुख्य तीर्थस्थल है, जो उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है। यह क्षेत्र ग्लेशियर झील से घिरा हुआ है। लोगों को यहाँ तक पहुँचने के लिए 13 किलोमीटर की पैदल यात्रा या फिर खच्चर द्वारा यात्रा करनी होती है। ठंड के मौसम में बर्फ से ढके हुए इस क्षेत्र की सैर, गर्मी में ही की जाती है। हेमकुंड साहिब

8. सेला पास अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में बसा सेला पास सबसे उँचाई पर बसा पास है, जो बौद्धिक नगर तवांग को तेज़पुर और गुवाहाटी से जोड़ता है। साल भर बर्फ से ढके इस पास में ठंड के मौसम में तापमान -10 डिग्री तक पहुँच जाता है। सेला पास 

 9. उत्तरी सिक्किम सिक्किम राज्य का उत्तरी सिक्किम क्षेत्र, सबसे उँची चोटी कंचनजंगा का घर भी है। उत्तरी सिक्किम भारत के सबसे ठंडे क्षेत्रों में से एक है। यहाँ का तापमान कम से कम -40 डिग्री तक पहुँच जाता है। यहाँ की कई लोकप्रिय जगह जैसे लाचुंग मठ, ज़ीरो पॉइंट आदि और यहाँ की संस्कृति पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। उत्तरी सिक्किम 

 10. पश्चिमी सिक्किम पश्चिमी सिक्किम ख़ासतौर पर ट्रेकर्स को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहाँ के ग़ेज़िंग, पेल्लिंग और जोर्थांग नगर सबसे उँचाई पर बसे नगर हैं। अपने और अन्य आकर्षक केंद्रों के साथ इस क्षेत्र का सामान्य तापमान लगभग 13 डिग्री सेल्सीयस है। पश्चिमी सिक्किम Image Courtesy: Shillika तो अब भी देर मत करिए, ठंड के मौसम का इंतज़ार खत्म करिए और मज़े लीजिए गर्मी में भी ठंड के मौसम का। ध्यान रखें की आप इन जगहों पर जाने से पहले अपने ठंड के कपड़े लेना ना भूलें।

Advertisement

 
Top